अगर नहीं जानते की शादी करे या नहीं तो इस कहानी को जरूर सुने

अगर नहीं जानते की शादी करे या नहीं तो इस कहानी को जरूर सुने


एक व्यक्ति शादी करने के लिए तैयार नहीं था क्योंकि कुछ लोगों ने उसे कह दिया था कि शादी मत
करना । शादी करने के बाद बहुत दुःख उठाने पड़ते हैं । पत्नी अगर गुस्सैल हो तो जीवन नरक बना देती है । घर में हर समय तानाशाही और मनमर्जी चलाती है और आदमी से जो चाहे सो कराती है । 

उसने सोचा कि जानबूझकर मैं यह आफत मोल नहीं लूंगा । वह अट्ठाईस साल का हो गया तब तक शादी नहीं की । एक दिन उसके दोस्त ने कहा अरे भाई शादी क्यों नहीं करते ? उसने कहा क्या बताएं जमाना बहुत बदल गया है , 

पत्नी आती है तो धौंस जमाती है अपने से यह सब सहन नहीं होगा अकेला रहूंगा और शादी - वादी नहीं करूंगा । दोस्त ने कहा मैं तुम्हें एक उपाय बताता हूं जिससे पत्नी जीवनभर तुम्हारी दासी बनकर रहेगी । उसने उपाय बताया कि जैसे ही शादी करके पत्नी आए तुम अगले ही दिन से पत्नी पर धौंस जमाना शुरू कर देना । 

उसने पूछा कैसे ? मित्र ने कहा दूसरे ही दिन से अकड़कर ही बोलना और साथ में यह भी जोड़ देना , ऐसा काम करो नहीं तो ? उसने कहा यह ठीक है पत्नी को पहले दिन से ही दबाकर रखो तो जीवनभर दबी रहेगी । ऐसा ही हुआ , उसने शादी कर ली | 

अगले दिन सुबह ऑफिस जाना था । उसने कहा , मेरे लिए जल्दी से नाश्ता तैयार करो नहीं तो ? पली ने सोचा आज तो पहला दिन है और यह शुरुआत ही नहीं तो से ! फिर उसने कहा ,जल्दी से मेरे जूतों की पॉलिश करो नहीं तो ? पत्नी और घबराई । 

दोपहर में ऑफिस से आया और बोला मेरे लिए खाना बनाओ नहीं तो ?  पत्नी बेचारी फिर घबराई कि न जाने
क्या कर्म किये थे सो ऐसा पति मिला जो हर समय धौंस जमाता रहता है । यह काम करो नहीं तो , वह काम करो नहीं तो आखिर मैं करूं क्या ? इस तरह छह महीने बीत गए । 

उस व्यक्ति ने सोचा दोस्त ने बड़ी जोरदार यात बताई है । इसकी तबसे हिम्मत नहीं हुई जबान चलाने की । पली बेचारी सोचती न जाने क्या बात है हरदम धमकाते रहते हैं कहीं मैं कुछ बोल दूं तो डर लगता है मुझे छोड़ ही न दें , कहीं तलाक ही न ले ले । 

साल भर बीत गया तब भी उस युवक की आदत नहीं सुधरी । जब भी कुछ काम कहता नहीं तो जरूर जोड़ देता । एक दिन पत्नी अपनी पड़ोसन के यहाँ गई जो थोड़ी उम्रदराज थी । उसने बातों - बातों में बताया कि मेरा पति जो कहता है मैं करने को तैयार रहती हूँ , आज तक मेने ना नहीं कहा है 

लेकिन जबसे इस घर में आई हूं मेरे साथ एक बात हो रही है । वे हमेशा कहते हैं कि यह काम करो नहीं तो , वह काम करो नहीं तो , ऐसा करो नहीं तो , वैसा करो नहीं तो , मेरे साथ हर वक्त नहीं तो , नहीं तो क्यों होता है । आप मुझे कोई उपाय बताएं ।

पड़ोसन ने कहा ठीक है , आज जब वह ऑफिस से आए और तुम्हें कोई काम बताए और कहे नहीं तो
, तो तुम पूछ लेना नहीं तो क्या कर लोगे । उसने कहा नहीं , नहीं यह नहीं पूछ सकुँगी , कहीं नाराज हो गए तो , मुझसे तलाक ही ले लिया तो ? 

पड़ोसन ने कहा तू चिंता मत कर , हिम्मत करके आज पूछ ही लेना । मैं सब जानती हूँ तेरा पति कितना दब्बू है । वह कुछ नहीं कर सकता है । शाम को पति घर आया , जनवरी का महीना था आते ही उसने कहा मुझे नहाना है मेरे लिए पानी गर्म कर नहीं तो ....... 

पली ने हिम्मत बटोरी और पूछ ही लिया नहीं तो आप क्या कर लेंगे ? अब बारी पति की थी उसने सोचा दोस्त ने यहीं तक बताया था आगे तो बताया ही नहीं था और कुछ उपाय सूझा नहीं सो कहा नहीं तो क्या ठंडे पानी से नहा लूंगा । 

इसलिए कभी भी अपनी पत्नी को निचा दिखाने की या फिर उस पर रोप ज़माने की कोसिस न करे और यही बात पत्नियों पर ही लागू होती है |  

Post a Comment

0 Comments